अंतरराष्ट्रीय

दिल्ली: आज भी छाया है कोहरा

नई दिल्ली
राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली और आसपास के इलाकों में रहने वाले लोग प्रदूषण और कड़ाके की सर्दी का पहले से सामना कर रहे हैं, अब पिछले कुछ दिनों से घने कोहरे ने रफ्तार पर ब्रेक लगा दिया है। दिल्ली के कई इलाकों में सड़कों पर दृश्यता जीरो है। आज भी दिल्ली-एनसीआर में घना कोहरा छाने की आशंका है, जिसकी शुरूआत हो चुकी है। रात करीब 2 बजे ही कोहरा सड़क पर दिखाई देने लगा। ऐसे में अगर आपने रविवार को सुबह में कहीं जाने का प्लान बना रखा है तो कोहरे को ध्यान में जरूर रखें। शनिवार को तो सुबह करीब 11 बजे तक हवाओं ने कई इलाकों में लोगों की मुश्किलें बढ़ाई। हवाओं के बावजूद कोहरा इतना अधिक था कि कई इलाकों में विजिबिलिटी जीरो रही। कई जगहों पर गाड़ियों की स्पीड बहुत कम रही।

शनिवार को राजधानी का अधिकतम तापमान 19.1 डिग्री रहा। यह सामान्य से एक डिग्री कम है। वहीं, पालम में यह महज 15.3 डिग्री और जाफरपुर में 14.7 डिग्री रहा। न्यूनतम तापमान 6.6 डिग्री रहा। सुबह करीब 10 बजे के बाद कोहरा छंटने लगा और धूप निकलने के साथ लोगों को ठंड से राहत मिली। हालांकि स्मॉग की वजह से धूप हल्की रही, लेकिन उसमें गर्माहट का अहसास था। अब रविवार को भी घने से अति घना कोहरा छाने की आशंका है। अधिकतम तापमान 20 और न्यूनतम तापमान 7 डिग्री के आसपास रहने का अनुमान है। मौसम विभाग के अनुसार इस पूरे हफ्ते दिन के समय सर्दी से कुछ राहत मिलेगी। तापमान 21 से 23 डिग्री के बीच रहेगा। वहीं, न्यूनतम तापमान भी 6 से 9 डिग्री के बीच बना रहेगा। रविवार के बाद कोहरे से भी कुछ दिनों के लिए राहत मिलेगी, लेकिन यह 22 जनवरी से दोबारा वापसी कर सकता है। वहीं, दूसरी तरफ राजधानी को 17 जनवरी से भीषण सर्दी से राहत मिलने की संभावना है। उत्तर पश्चिमी बर्फीली हवाओं की रफ्तार में कमी आएगी। लेकिन 18 जनवरी से फिर से स्थितियां सर्द हवाओं के अनुकूल होंगी। 18 जनवरी से पहाड़ों की बफीर्ली हवाएं फिर से तेज रफ्तार से चलना शुरू होंगी। 21 जनवरी तक इसकी वजह से ठंड का अनुभव होगा। 21 जनवरी की रात से एक नए वेस्टर्न डिस्टरबेंस का असर दिल्ली पर पड़ेगा। दिल्ली में 22 और 23 जनवरी को मौसम करवट ले सकता है। आंशिक तौर पर बादल होंगे, लेकिन बारिश की स्थितियां अभी स्पष्ट नहीं है। इस डिस्टरबेंस के दूर जाने के बाद एक बार फिर उत्तर पश्चिमी हवाएं चलेंगी। जिसकी वजह से 26 जनवरी से तापमान गिरेगा। कुल मिलाकर जनवरी में कड़ाके की सर्दी माह के अंत तक बनी रह सकती है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button