मध्य प्रदेशराज्य

दिग्विजय ने कहा-सही साबित हुई आशंका, कमलनाथ ने स्वीकारी हार, EVM की विश्वसनीयता पर सवाल

भोपाल
मध्य प्रदेश विधानसभा की 28 सीटों के लिए हुए उप चुनाव के रुझान और शुरुआती नतीजे आते ही पीसीसी चीफ कमलनाथ ने पार्टी की हार स्वीकार कर ली है. लेकिन पूर्व सीएम दिग्विजय सिंह सहित कुछ अन्य नेताओं ने फिर से EVM की विश्वसनीयता पर सवाल उठाए हैं.

मध्य प्रदेश विधानसभा की 28 सीटों के लिए हुए उप चुनाव के नतीजों में बीजेपी प्रचंड जीत की ओर बढ़ चली है. 8 सीटों की दरकार लिए बैठी बीजेपी को भी शायद इतनी भारी सफलता की उम्मीद नहीं थी. कांग्रेस के लिए ये परिणाम निराशाजनक रहे. पीसीसी चीफ और पूर्व सीएम कमलनाथ ने कहा-जनतंत्र का फैसला स्वीकार है. 28 सीटों को लेकर जनता जो फैसला सुनाएगी उसे स्वीकार किया जाएगा.अभी भी कुछ सीटों के नतीजे आना है बाकी उसके बाद पार्टी नतीजों का विश्लेषण करेगी.

कमलनाथ ने कहा-जनतंत्र का फैसला स्वीकार किया जाएगा. नतीजों पर नजर रखने के लिए कमलनाथ सुबह से प्रदेश कांग्रेस दफ्तर पहुंच गए थे. लेकिन नतीजे फेवर में न आते देख वो दोपहर 12:00 बजे वहां से अपने घर के लिए रवाना हो गए.प्रदेश कांग्रेस दफ्तर में न्यूज़ 18 से खास बातचीत में कमलनाथ ने कहा कि लोकतंत्र का फैसला माना जाएगा.

उप चुनाव के नतीजों पर दिग्विजय सिंह ने कहा- जनता कांग्रेस पार्टी के साथ है. लेकिन कांग्रेस की आशंकाएं इन नतीजों के साथ ही सच साबित हो गयी हैं. दिग्विजय सिंह ने ईवीएम पर फिर उठाते हुए कहा-कोई भी विकसित देश ईवीएम पर भरोसा नहीं करता. मशीन में लगी चिप टैंपर प्रूफ नहीं होती है. उन्होंने कहा मांधाता, नेपानगर और हाटपिपलिया सीट पर हजारों वोटों से हुई हार कई तरह के सवाल खड़े कर रही है. दिग्विजय सिंह ने कहा-कल कांग्रेस विधायक दल की बैठक में पार्टी की हार के कारणों पर मंथन किया जाएगा.उप चुनाव के नतीजों पर पार्टी विधायक दल की बैठक में समीक्षा की जाएगी. दिग्विजय सिंह ने कहा इन चुनावों में जनता को खरीदने की कोशिश की गयी लेकिन जनता बिकी नहीं.

कांग्रेस विधायक कांतिलाल भूरिया का बयान भी आया है.उन्होंने कहा-ये लोकतंत्र है.जनता का फैसला सब को स्वीकार करना चाहिए.हालांकि अभी मतगणना पूरी नहीं हुई है.मतगणना पूरी होने पर ही स्थिति स्पष्ट होगी. भूरिया ने भी ईवीएम पर सवाल उठाए. उन्होंने कहा ईवीएम में गड़बड़ी की गयी है. बिहार चुनाव में भी ईवीएम में गड़बड़ी हुई.कांग्रेस इसकी शिकायत चुनाव आयोग से करेगी.

राज्यसभा सांसद विवेक तन्खा ने कहा-उपचुनाव के नतीजे समझ के बाहर हैं.जो रुझान पहले मिल रहे थे उसके पलट नतीजे आए हैं.हार के कारणों का पार्टी विश्लेषण करेगी. उन्होंने कहा- कांग्रेस की सभाओं में भारी भीड़ उमड़ रही थी. वो वोट कहां गए.पार्टी गंभीरता के साथ इसकी समीक्षा करेगी. तन्खा ने कहा प्रजातंत्र की गंभीर बीमारी के लक्षण सामने आ रहे हैं.इन सब नतीजों का आंकलन किया जाएगा.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button