राष्ट्रीय

दलित लड़की से प्यार और शादी करने की मिली ‘सजा’, पीट-पीटकर युवक की हत्या

गुड़गांव
गुड़गांव के बादशाहपुर में हुए आकाश हत्याकांड की गुत्थी को पुलिस ने सुलझा दिया है। दलित युवती से प्रेम विवाह करने की रंजिश के साथ ही आकाश की एक युवक से कहासुनी के चलते 8 नवंबर को पिटाई की गई थी, बाद में 10 नवंबर को इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई। पकड़े गए आरोपी अजय ने पूछताछ में खुलासा किया कि 8 नवंबर की रात वह पैदल जा रहा था, जबकि आकाश ऑटो में सवार था। ऑटो से आरोपी को साइड लगी तो ड्राइवर और आकाश ने उसे देखकर चलने को कहा। इसी बात पर वह आकाश से उलझ गया और फिर अपने अन्य साथियों को बुलाकर उस पर जानलेवा हमला कर दिया था। पुलिस को मामले की शिकायत राजस्थान अलवर के गांव लक्ष्मणगढ़ निवासी राहुल ने दी थी। राहुल फिलहाल भोंडसी की गोवर्धन कुंज कॉलोनी में रहता है। उसने कहा कि छोटा भाई आकाश भी उसके साथ रहता था। 5 महीने पहले आकाश ने बादशाहपुर निवासी युवती से प्रेम विवाह किया था। जिसके चलते बादशाहपुर के ही कई युवकों ने उसे बादशाहपुर आने पर जान से मारने की धमकी दी थी।

8 नवंबर को ससुराल आए युवक को घेरकर पीटा
8 नवंबर को युवक ससुराल गया था तो वहां पांच युवकों पवन, मोहित, रवि, अजय व लालू उर्फ धर्मेंद्र ने लाठी-डंडों से पीटकर अधमरा कर दिया। 10 नवंबर की देर रात युवक की इलाज के दौरान मौत हुई तो बुधवार को पुलिस ने केस में हत्या की धारा जोड़ी। वहीं वारदात करने वाले पांच आरोपियों अजय, रवि, पवन, मोहित व धर्मेंद्र उर्फ लालू को काबू किया।

ऑटो टच होने का बहाना, दलित से शादी का लिया 'बदला'
पूछताछ में खुलासा हुआ कि आरोपी अजय 8 नवंबर की रात पैदल जा रहा था। पीछे से ऑटो आया जो अजय को टच हो गया। ऑटो चालक ने उसे ठीक से चलने को कहा तो उसमें सवार आकाश ने भी कहा कि देखकर नहीं चल सकता। इसी पर आरोपी ने चालक के बजाय आकाश से झगड़ा किया। फिर अपने साथियों को बुलाकर जानलेवा हमला कर दिया और अधमरा छोड़ भाग गए। आरोपियों के पास से 2 डंडे, 1 लोहे की पाइप पुलिस ने बरामद कर ली है।

एसीपी ने बताया, सभी आरोपी गिरफ्तार
एसीपी क्राइम प्रीतपाल सिंह ने बताया कि सभी 5 आरोपियों को अरेस्ट कर लिया गया है। गुरुवार को उन्हें कोर्ट में पेश कर न्यायिक हिरासत में भोंडसी जेल पहुंचा दिया गया है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button