राजनीति

तख्तापलट पर बहुमत के जनादेश की मोहर, उपचुनाव से MP में खिला कमल

भोपाल
मध्य प्रदेश की 28 सीटों पर हुए उपचुनाव में मतदाताओं ने एकतरफा जीत देकर बीजेपी की दीवाली मनवा दी। बीजेपी 28 में से 19 सीटों पर जीत दर्ज कर रही है। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान आतिशबाज बनकर उभरे हैं।  उन्होंने इसे जनता की जीत बताया है। दूसरी ओर कांग्रेस खेमे में मायूसी छा गई है। पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ  को करारी हार का सामना करना पड़ा है।  कांग्रेस सिर्फ 8 सीटों पर जीत रही है। जिन 28 सीटों पर उप चुनाव हुए हैं, 2018 के विधानसभा चुनाव में इनमें से 27 सीटों पर कांग्रेस ने जीत हासिल की थी। सिर्फ एक सीट आगर भाजपा के खाते में आई थी। उप चुनाव के परिणाम से भाजपा की सत्ता को स्थायित्व मिल गया है। उप चुनाव के परिणामों के बाद विधानसभा में भाजपा की सदस्य संख्या 126 हो जाएगी।

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा पिछले विधानसभा चुनाव में हम कम मार्जिन से जिन सीटों पर हारे थे, इस चुनाव में उन्हीं सीटों पर विशाल मतों से जीते हैं। जनता ने हमें यह आशिर्वाद विकास के लिए दिया है। इसलिए हम मध्यप्रदेश के विकास में कोई कसर बाकी नहीं रखेंगे। मध्यप्रदेश मेरा मंदिर है। यहां की जनता मेरे लिए भगवान के समान है। मैं इस मंदिर का पुजारी हूँ। मुझे जनता का आशीर्वाद मिला है, मैं  प्रदेश के विकास में कोई कसर नहीं छोडूंगा। राज्य सरकार हर क्षेत्र में तेजी से कार्य करेगी। नागरिकों का पूरा सहयोग प्राप्त कर प्रदेश की प्रगति के नए आयाम स्थापित किए जाएंगे। आत्मनिर्भर मध्यप्रदेश के विकास के लिए भी तेजी से प्रयास होंगे। नागरिकों ने राज्य सरकार की जनकल्याणकारी नीतियों और लोक हितैषी कार्यक्रमों के प्रति विश्वास व्यक्त किया है। निर्विघ्न निर्वाचन संपन्न होने पर समस्त अधिकारियों-कर्मचारियों को भी बधाई।

भांडेर में रक्षा संतराम ने सबसे कम मतों से जीत दर्ज की है। भाजपा की रक्षा ने कांग्रेस के फूल सिंह बरैया को 161 मतों से हराया है। बमोरी से भाजपा के महेंद्र सिंह सिसोदिया कांग्रेस के कन्हैयालाल अग्रवाल से 53153 मतों से जीत हासिल करने में सफल हुए हैं। अशोकनगर में भाजपा के जजपाल सिंह जज्जी ने कांग्रेस की आशा दोहरे को 14630 वोट से हराया है। मुंगावली से भाजपा के बृजेंद्र सिंह यादव ने कांग्रेस प्रत्याशी कन्हईराम लोधी से 21469 मतों से और अनूपपुर में भाजपा के बिसाहूलाल सिंह ने कांग्रेस के विश्वनाथ कुंजाम को 34864 वोट से हराया है। इसके अलावा सांची से प्रभुराम चौधरी ने कांग्रेस के मदनलाल चौधरी से 63809 वोट और ब्यावरा से कांग्रेस के रामचंद्र दांगी ने भाजपा के नारायण सिंह पंवार से 12102 वोट से जीत दर्ज की है। हाट पिपल्या से भाजपा के मनोज चौधरी ने कांग्रेस के राजवीर सिंह को 13904 वोट से, मान्धाता में नारायण सिंह पटेल ने कांग्रेस के उत्तम पाल सिंह को 22129, नेपानगर में भाजपा की सुमित्रा कास्डेकर ने कांग्रेस के रामकिशन पटेल को 26340 वोट से तथा बदनावर से राजवर्धन सिंह दत्तीगांव ने कांग्रेस के कमल सिंह पटेल को 32133 व सुवासरा से हरदीप सिंह डंग भाजपा ने राकेश पाटीदार कांग्रेस को 29440 मतों से हराया है।

महेंद्र सिंह सिसौदिया ने भी बड़ी जीत दर्ज की। उन्होंने कांग्रेस उम्मीदवार केएल अग्रवाल को 52 हजार 747 मतों से हराया। सिसौदिया की जीत के अंतर के बराबर केएल अग्रवाल को भी वोट नहीं मिल सके। अग्रवाल यहां से महज 47 हजार 709 वोट पाने में ही सफल रहे। जबकि महेंद्र सिंह सिसौदिया को एक लाख 456 वोट मिले। गौरतलब है कि केएल अग्रवाल वर्ष शिवराज सिंह चौहान की पूर्ववर्ती सरकार में मंत्री रह चुके हैं। इस बार उन्होंने कांग्रेस का दामन थामा था।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button