खेल

टीम इंडिया का दुर्भाग्य होगा अगर अब भी रोहित नहीं बने कप्तान: गौतम गंभीर

नई दिल्ली
'देखिए' अब अगर रोहित शर्मा हिंदुस्तान के कप्तान नहीं बने तो यह हिंदुस्तान का दुर्भाग्य है। रोहित शर्मा का नहीं' यह बात टीम इंडिया के पूर्व सलामी बल्लेबाज और अपनी कप्तानी में कोलकाता नाइट राइडर्स को दो बार चैंपियन बनाने वाले गौतम गंभीर ने कही।

मंगलवार को इंडियन प्रीमियर लीग 2020 के फाइनल में मुंबई इंडियंस ने दिल्ली कैपिटल्स को हराकर पांचवीं बार खिताब पर कब्जा किया। रोहित की कप्तानी में मुंबई इंडियंस की टीम ने एक बार फिर ट्रोफी पर कब्जा किया। गंभीर का मानना है कि सीमित ओवरों के प्रारूप में भारतीय टीम के उपकप्तान रोहित को अब कप्तान बनाने का समय आ रहा है।

गंभीर ने कहा कि अगर कोई खिलाड़ी पांच बार आईपीएल की ट्रोफी जीतता है तो आप क्या कहेंगे। गंभीर ने कहा कि बेशक एक कप्तान उतना ही अच्छा होता है जितनी अच्छी उसकी टीम होती है, इस बात में कोई संदेह नहीं लेकिन आखिर एक कप्तान को परखने का क्या पैमाना होता है।

गंभीर ने कहा, 'आपको किसी को परखने का पैमाना एक ही रखना होगा। अगर हम धोनी को भारत का सबसे सफल कप्तान कहते हैं, जो कि वह हैं, तो वह इसी आधार पर कहते हैं कि उन्होंने दो वर्ल्ड कप जीते हैं और दो आईपीएल जीते हैं। रोहित ने पांच बार आईपीएल जीता है। तो अगर आगे जाकर उन्हें वाइट बॉल की कप्तानी या टी20 क्रिकेट की कप्तानी नहीं मिलती तो यह शर्म की बात है। क्योंकि इससे ज्यादा रोहित शर्मा कुछ नहीं कर सकते। वह सिर्फ जिस टीम की कप्तानी कर रहे हैं उसे जीत दिला सकते हैं।'

क्रिकइंफो के साथ बातचीत में गंभीर ने अलग प्रारूप के लिए अलग कप्तान की बात भी कहे। उन्होंने कहा कि लोग कह सकते हैं कि रोहित गलत वक्त पर थे उस समय विराट कोहली कप्तानी कर रहे थे। गंभीर ने कहा, 'आप अलग प्रारूप में अलग कप्तान रख सकते हैं। इसमें कोई खराबी नहीं है। गंभीर ने कहा कि रोहित ने साबित किया है कि वाइट बॉल कप्तानी में उनकी और विराट कोहली की कप्तानी में कितना फर्क है। एक खिलाड़ी पांच बार आईपीएल की ट्रोफी जीतता है और दूसरा एक बार भी नहीं जीत पाया है।'

गंभीर ने अपनी बात को आगे बढ़ाते हुए कहा, 'विराट कोहली खराब कप्तान नहीं हैं लेकिन विराट और रोहित को एक ही मंच मिला है वहां रोहित ने खुद को बेहतर साबित किया है।'

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button