छत्तीसगढ़राज्य

टीकाकरण के दूसरे चरण में वरिष्ठ नागरिकों ने दिखाया उत्साह

रायपुर
सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय, भारत सरकार के पत्र सूचना कार्यालय (पीआईबी) और प्रादेशिक लोकसंपर्क कार्यालय (आरओबी), रायपुर के संयुक्त तत्वावधान में गुरूवार को दोपहर 12 बजे से 1 बजे तक कोविड-19 टीकाकरण अभियान पर एक वेबिनार का आयोजन किया गया। इस वेबिनार में सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय, भारत सरकार के फील्ड अधिकारियों के अलावा नेहरू युवा केन्द्र तथा राष्ट्रीय सेवा योजना के स्वयं सेवक, लोक कलाकार और छात्र-छात्राएं इस वेबिनार में शामिल हुए।

छत्तीसगढ़ टीकाकरण अभियान की राज्य मीडिया समन्वयक, श्रीमती हर्षा पौराणिक ने कहा कि कोरोना से बचाव की लड़ाई में टीकाकरण एक महत्वपूर्ण हथियार है। उन्होंने बताया कि यह बहुत ही हर्ष का विषय है कि टीकाकरण के दूसरे चरण में वरिष्ठ नागरिकों ने बहुत उत्साह दिखाया है और स्वेच्छा से अपना टीकारकरण करवाया है। यह हम सब के लिए अनुकरणीय है। श्रीमती पौराणिक ने बताया कि टीकाकरण के बाद अभी तक कोई भी गंभीर मामला दर्ज नहीं हुआ है और न ही टीकाकरण से किसी की मृत्यु हुई है। उन्होंने कोविड-19 के लिए पंजीकरण के संबंध में विस्तृत जानकारी दी और आधिकारिक पोर्टल से मदद लेने अपील की।

इस अवसर पर शासकीय चिकित्सा महाविद्यालय, अंबिकापुर के असिस्टेंट प्रोफेसर, डॉ. शैलेन्द्र गुप्ता ने कहा कि किसी भी व्यक्ति के शरीर में कोविड संक्रमण का असर सात से चौदह दिनों तक रहता है और सौ में से केवल एक या दो लोगों की मौत होती है। उन्होंने बताया कि किसी भी बीमारी का इलाज दो तरह से किया जाता है। पहला, बीमारी होने के बाद इलाज और दूसरा, बीमारी होने के पहले ही इलाज। दूसरी तरह के इलाज में व्यक्ति को बीमारी न हो, इसके लिए टीकाकरण का सहारा लिया जाता है। उन्होंने टीका के निर्माण के विभिन्न चरणों और टीकारकण के संबंध में विस्तृत जानकारी दी।

पत्र सूचना कार्यालय और रीजनल आऊरीच ब्यूरो, रायपुर के अपर महानिदेशक अभिषेक दयाल ने कहा कि कोविड से जीतने के लिए हम सब को बढ़-चढ़कर टीकाकरण अभियान में हिस्सा लेना चाहिए। उन्होंने कहा कि इस महामारी से सबसे ज्यादा समाज का गरीब तबका प्रभावित हुआ है। क्योंकि इस महामारी की वजह से गैर संगठित उद्योग और व्यवसाय प्रभावित हुआ जहां पर दिहाड़ी मजदूर काम करते हैं। इसी प्रकार स्कूल बंद होने से गरीब बच्चे पढ़ाई नहीं कर पा रहे हैं, उनके पढ़ाई का नुकसान हो रहा है। इसलिए बहुत जरूरी हो जाता है कि सभी लोग टीकाकरण करवाएं और जल्द से जल्द इस माहौल से बाहर निकलें। उन्होंने कहा कि टीकाकरण के बाद भी हमें कोविड के लिए निर्धारित उचित व्यवहार को बनाए रखना है।

वेबिनार दौरान प्रतिभागियों द्वारा पूछे गए प्रश्नों एवं जिज्ञासाओं का समाधान विशेषज्ञों द्वारा दिया गया। वेबिनार मे शामिल अतिथियों और प्रतिभागियों का स्वागत, पत्र सूचना कार्यालय, रायपुर के निदेशक, कृपा शंकर यादव ने और आभार प्रदर्शन, सहायक निदेशक, सुनील कुमार तिवारी ने किया। वेबिनार का संचालन रीजनल आऊरीच ब्यूरो (आरओबी), रायपुर के कार्यालय प्रमुख शैलैष फाये ने किया।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button