अंतरराष्ट्रीय

जो बाइडेन जीत के जश्न में मशगूल, ट्रंप बोले- ये लोग चोर हैं, यह चोरी का चुनाव था

वॉशिंगटन
अमेरिका में हुए राष्ट्रपति चुनाव में डोनाल्ड ट्रंप को शिकस्त हाथ लगी है। उधर, जो बाइडेन राष्ट्रपति पद पर जीत हासिल करने के बाद से बेहद उत्साहित हैं। उपराष्ट्रपति चुनी गईं कमला हैरिस और जो बाइडेन आगे की तैयारियों में जुट गए हैं। वहीं, डोनाल्ड ट्रंप इस जीत को मानने को राजी नहीं हैं। वह इसे बेइमानी से हासिल की गई जीत मान रहे हैं। लगातार हमलावर रुख के बीच डोनाल्ड ट्रंप ने फिर से कुछ ट्वीट किए हैं। वह लिखते हैं कि हम मानते हैं कि ये लोग चोर हैं। शहर का बड़ा तंत्र भ्रष्टाचार में लिप्त हो चुका है। यह चोरी का चुनाव था। ट्रंप ने यह भी कहा, 'ब्रिटेन में ओपिनियन पोल का सटीक अंदाजा लगाने वालों ने रविवार को लिखा है कि यह साफ तौर पर गलत तरीके से जीता गया चुनाव है। साथ ही कहा गया है कि यह तो सोचा ही नहीं जा सकता है कि इन राज्यों के कुछ हिस्सों में बाइडेन ओबामा की जीत के आंकड़े को भी पार कर जाएं। खैर, इस बात का कहां कोई असर पड़ता है। उन्हें जो चोरी करना था, वह उन्होंने चोरी कर लिया।'

'…इसका लंबा इतिहास है'
अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने कहा, 'हमें मतों पर भी गौर करना चाहिए। हम सारणीकरण की प्रक्रिया की बस शुरुआत ही कर रहे हैं। हमें इन आरोपों को भी देखना चाहिए। हम बड़ी संख्या में ऐसे शपथ पत्रों को भी देख रहे हैं कि जिसमें मतदान से संबंधी धोखाधड़ी सामने आई है। इस देश में चुनाव संबंधी समस्याओं का एक लंबा इतिहास है।' इससे पहले ट्रंप ने एक ट्वीट में लिखा था, '7 करोड़ 10 लाख वैध मत। अमेरिकी इतिहास में मौजूदा राष्ट्रपति को मिलने वाला सबसे अधिक वोट।'

ट्रंप ने यह भी लगाया आरोप
डोनाल्ड ट्रंप ने इस बात की भी आरोप लगाया था कि बड़ी संख्या में मेल इन बैलट्स तय समय (रात 8 बजे) के बाद आए थे। उस वक्त तक वोटिंग खत्म हो चुकी थी। ट्रंप ने इस बात की मांग की थी कि इन वोटों की गिनती न की जाए। वहीं, इस मामले में पेंसिलवानिया की एक कोर्ट ने कहा था कि यदि बैलट वोटिंग वाले दिन से पहले भेजा गया है तो वोट चुनाव के दिन मतलब 3 नवंबर के तीन दिनों बाद भी यदि मिलता है तो उसकी गिनती की जा सकती है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button