राष्ट्रीय

जेईई में 99.8 प्रतिशत नंबर लाने वाला फर्जीवाड़े में गिरफ्तार

गुवाहाटी
जेईई (मेन्स) परीक्षा में 99.8 प्रतिशत नंबर लाकर टॉप करने वाले असम के अभ्यर्थी और उसके पिता को फर्जीवाड़े के लिए गिरफ्तार किया गया है। इस मामले में दर्ज FIR के अनुसार आरोपी ने अपनी जगह किसी और से परीक्षा दिलवाई। आरोपी, उसके पिता और तीन अन्य लोगों के खिलाफ शिकायत दर्ज होने के बाद उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया है।

आईआईटी सहित देश की प्रतिष्ठित इंजिनियरिंग कॉलेज में होने वाली परीक्षाओं में फर्जीवाड़े के आरोप में अभ्यर्थी नील नक्षत्र दास, पिता डॉक्टर ज्योतिर्मोय दास के अलावा प्रांजल कालिता, हेमेंद्र नाथ शर्मा, हीरूलाल पाठक को गिरफ्तार कर लिया गया है। पुलिस को इस पूरे मामले में किसी बड़े रैकेट के शामिल होने की भी आशंका है।

प्राप्त जानकारी के अनुसार आरोपी 5 सितंबर 2020 को परीक्षा देने के लिए सेंटर पर आया था। जरूरी बायोमीट्रिक औपचारिकताएं पूरी कर वापस निकल गया। उसकी जगह किसी दूसरे ने परीक्षा दी। इस पूरे फर्जीवाड़े में सेंटर के निरीक्षक भी शामिल थे। ग्लोबल एडु लाइट नामक शैक्षिक संस्थान की मदद से इस ऑपरेशन को अंजाम दिया गया।

आरोपी की कॉल रेकॉर्डिंग और वॉट्सऐप चैट सोशल मीडिया में वायरल हो गया था, जिसमें वह परीक्षा में टॉप करने के लिए हथकंडे का जिक्र कर रहा था। इस मामले में दिसपुर के मथुरा नगर निवासी मित्रदेव शर्मा ने अजरा पुलिस स्टेशन में एफआईआर दर्ज कराई। इसकी कॉपी नैशनल टेस्टिंग एजेंसी (NTA) को भेज दी गई है।

 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close