राष्ट्रीय

जिस इंजीनियर को आत्महत्या के लिए उकसाने के केस में अर्णब हुए गिरफ्तार, उनकी पत्नी ने कहा- खुश हूं ये दिन आया

मुंबई

53 वर्षीय इंटीरियर डिजाइनर अन्वय नाइक और उनकी मां को आत्महत्या के लिए मजबूर करने के आरोप में रिपब्लिक टीवी (Republic TV Editor In Chief Arnab Goswami) के एडिटर-इन-चीफ अर्णब गोस्वामी (Arnab Goswami) को मुंबई पुलिस ने गिरफ्तार किया है। अर्णब की गिरफ्तारी के बाद अन्वय नाइक की पत्नी अक्षिता नाइक ने मुंबई पुलिस की कार्रवाई का स्वागत किया है। अक्षिता ने कहा है कि वो एक लंबे वक्त से इस क्षण का इंतजार कर रही थीं। अर्णब (Arnab Goswami Arrest) की गिरफ्तारी के बाद मीडिया से बात करते हुए अक्षिता ने कहा, 'मैं महाराष्ट्र पुलिस (Maharashtra Police) को धन्यवाद देना चाहती हूं क्योंकि उनकी वजह से मैंने अपने जीवन में यह दिन देखा है। मैंने अब तक काफी धैर्य रखा था। ये जरूर है कि मेरे पति और मेरी सास अब वापस नहीं लौट सकते, लेकिन वो अब भी मेरे लिए जीवित जैसे ही हैं।'

 

अर्णब गोस्वामी पर साधा निशाना

अन्वय की पत्नी ने कहा, 'सुशांत सिंह राजपूत ने खुदकुशी की, यह बुरा हुआ। अर्णब इसके लिए खूब शोर मचा रहे हैं। लेकिन मेरी सास और मेरे पति की मौत के जिम्मेदार वही हैं। पिछली सरकार ने इस मामले को दबा कर रखा। न्याय पाने के लिए मैंने हर चौखट पर दस्तक दी, लेकिन मुझे इंसाफ नहीं मिला। मुझे न्याय कब मिलेगा, अर्णब ने मेरे परिवार का बुरा किया है। वह इस चीज के लिए जिम्मेदार हैं।

 

'सुशांत के लिए लड़ने वाले लोग दें हमारा भी साथ'

अर्नब की गिरफ्तारी से पहले अक्षिता ने कहा कि मैं आप सबसे हाथ जोड़कर विनती करती हूं कि नाइक परिवार को न्याय मिले, इसके लिए आप सब मदद करें। जो लोग सुशांत सिंह राजपूत के लिए लड़ाई लड़ रहे हैं, वह नाइक परिवार के लिए भी लड़ाई लड़े। 'मैं महाराष्ट्र पुलिस (Maharashtra Police) को धन्यवाद देना चाहती हूं क्योंकि उनकी वजह से मैंने अपने जीवन में यह दिन देखा है। मैंने अब तक काफी धैर्य रखा था। ये जरूर है कि मेरे पति और मेरी सास अब वापस नहीं लौट सकते, लेकिन वो अब भी मेरे लिए जीवित जैसे ही हैं।'

 

क्या है मामला?

अर्णब की गिरफ्तारी से जुड़ा मामला साल 2018 का है। पुलिस के मुताबिक, रिपब्लिक टीवी का स्टूडियो तैयार करने वाली कंपनी कॉन्कॉर्ड डिजाइन प्राइवेट लिमिटेड के एमडी अन्वय नाइक और उनकी मां ने 2018 में आत्महत्या कर ली थी। अन्वय ने आत्महत्या से पहले एक पत्र लिखा। इस सुइसाइड नोट में उन्होंने कहा कि रिपब्लिक टीवी के 83 लाख रुपये समेत दो अन्य कंपनियों- आईकास्टएक्स/स्काइमीडिया और स्मार्टवर्क्स के पास कुल 5.40 करोड़ रुपया बकाया होने के कारण उनकी आर्थिक स्थिति दयनीय हो गई है और अब उनके पास आत्महत्या के सिवा कोई चारा नहीं बचा है।

 

'सूइसाइड नोट में कहा गया था…'

अन्वय और उनकी मां के शव अलीबाग के काविर गांव स्थित एक फार्महाउस में मिले थे। नाइक का शव फर्स्ट फ्लोर की छत से लटका मिला था जबकि उनकी मां की लाश ग्राउंड फ्लोर पर बेड पर पड़ी मिली थी। तब पुलिस को मिले सूइसाइड नोट में कहा गया था कि दोनों ने इसलिए आत्महत्या की क्योंकि तीनों कंपनियां उनका बकाया नहीं चुका रही थीं।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button