राष्ट्रीय

 जब तक दोषी पुलिसकर्मियों को सजा नहीं मिल जाती: BJP 

 सूरी (पश्चिम बंगाल)                                                                                                                                                                 
भारतीय जनता युवा मोर्चा के प्रदेश अध्यक्ष सौमित्र खान ने पुलिस हिरासत में 15 वर्षीय किशोर की मौत के विरोध में शनिवार को बीरभूम जिले के मल्लारपुर थाने के सामने धरना-प्रदर्शन किया। किशोर की मौत के विरोध में भाजपा ने इलाके में 12 घंटे के बंद का आह्वान किया।

खान ने जोर देकर कहा कि उनकी पार्टी राज्य में पूरे पुलिस बल के खिलाफ नहीं है। हालांकि भाजपा सांसद ने चेतावनी दी कि 'विपक्षी कार्यकर्ताओं और आम लोगों के खिलाफ अत्याचार में शामिल होने और तृणमूल कांग्रेस की आड़ में बचने वालों को उनकी पार्टी और युवा मोर्चा छोड़ेगा नहीं।

खान ने आरोप लगाया कि मोबाइल चोरी का आरोप लगाकर 15 वर्षीय किशोर को पुलिस ने मार दिया और छत से लटका दिया। अब सत्तारुढ़ तृणमूल कांग्रेस उन्हें बचा रही है। उन्होंने कहा, ''हम तब तक चैन से नहीं बैठेंगे जब तक दोषी पुलिसकर्मियों का पता नहीं चल जाता और उनके खिलाफ कार्रवाई नहीं की जाती। अगर कोई कार्रवाई नहीं की गई तो हम दो, तीन, चार नवंबर को राज्य के हर थाने के सामने प्रदर्शन करेंगे।”

उन्होंने आरोप लगाया कि लड़के के माता-पिता को पुलिस ने बंदूक की नोक पर अगवा कर लिया और मीडिया के सामने यह कहने के लिए मजबूर किया कि उनके बच्चे को मारा नहीं गया बल्कि उसने आत्महत्या की। खान ने आरोप लगाते हुए कहा, ''हम बच्चे के माता-पिता से उनके पड़ोसियों के सामने यह स्वीकार करने मांग करते हैं।

उन्होंने आरोप लगाया कि प्रशासन द्वारा रात में लड़के के शव का चुपके से अंतिम संस्कार कर दिया गया। इस बीच, भाजपा समर्थकों ने शनिवार को मल्लारपुर कस्बे में रैली निकाली।  रैली को पुलिस ने थाने के पास रोका तो भाजपा समर्थकों और पुलिसकर्मियों के बीच धक्कामुक्की हो गई।

पुलिस का दावा है कि किशोर का शव बृहस्पतिवार रात मल्लारपुर थाने के शौचालय में लटका हुआ मिला था, जबकि भाजपा ने आरोप लगाया है कि पुलिसकर्मियों ने उसकी पिटाई की, क्योंकि उसके माता-पिता भाजपा के समर्थक हैं। हालांकि किशोर के पिता का कहना है कि वह तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) समर्थक हैं और उनके बेटे ने आत्महत्या की है।

पुलिस ने कहा कि मामले की मजिस्ट्रेट जांच का आदेश दिया गया है। किशोर का पोस्टमॉर्टम कराने के बाद कड़ी पुलिस सुरक्षा के बीच तारापीठ श्मशान घाट पर अंतिम संस्कार कर दिया गया। भाजपा और किशोर के कुछ पड़ोसियों का दावा है कि कुछ दिन पहले पुलिस उसे उठाकर ले गई थी। 

पुलिस अधीक्षक श्याम सिंह ने कहा कि चोरी के आरोप में बृहस्पतिवार दोपहर उसे हिरासत में लिया गया था और उसे मल्लारपुर थाने के अलग सुरक्षित कक्ष में रखा गया था। अधिकारी ने कहा, ''रात करीब नौ बजकर 25 मिनट पर वह शौचालय में गया और फांसी लगा ली।''

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close