अंतरराष्ट्रीय

कोर्ट ने डॉक्टर को सुनाई 465 साल जेल की सजा, महिलाओं को डराकर ऑपरेशन कर देता था

 वर्जीनिया 
अमेरिका के वर्जीनिया में एक डॉक्टर को मरीजों की गैरजरूरी ऑपरेशन करने के लिए 465 साल जेल की सजा सुनाई गई है. आरोप है कि गायनोलॉजिस्ट (स्त्री रोग विशेषज्ञ) ऐसे मरीजों का भी ऑपरेशन कर देता था जिसे ऑपरेशन की जरूरत नहीं होती थी.

अमेरिका के न्याय विभाग ने सोमवार को मरीजों पर सर्जरी कराने के लिए दबाव बनाने के आरोप में डॉ. जावेद पेरवेज़ को दोषी ठहराया. कोर्ट ने माना कि डॉक्टर ने निजी और सरकारी बीमा कंपनियों को लाखों डॉलर का बिल देकर खूब पैसे बनाए. कम से कम 2010 के बाद से उनके इस काम में काफी तेजी आ गई थी. अदालत के रिकॉर्ड से पता चलता है कि उन्होंने गर्भवती महिलाओं को ऑपरेशन के जरिए डिलीवरी कराने के लिए प्रेरित किया. वैकल्पिक अपरिवर्तनीय नसबंदी के उन्होंने प्रतीक्षा अवधि का उल्लंघन किया. इसके बदले उन्होंने हजारों डॉलर की बीमा कंपनियों को बिल दिया जो उन्होंने गैर जरूरी रूप से किया था.
 
कोर्ट के रिकॉर्ड के मुताबिक, पेरवाइज अपने मरीजों को बताते थे कि सर्जरी जरूरी थी, और कुछ उदाहरणों में, उन्होंने कैंसर के प्रसार से बचने के लिए रोगियों को ऐसा करने की नसीहत भी दी थी. एफबीआई के नॉरफॉक फील्ड ऑफिस के प्रभारी विशेष एजेंट कार्ल शूमन ने एक बयान में कहा, "डॉक्टर, प्राधिकरण के लोग और भरोसेमंद पदों पर बैठे लोग अपने मरीजों को कोई नुकसान नहीं पहुंचाने की शपथ लेते हैं." अनावश्यक, आक्रामक चिकित्सा प्रक्रियाओं के साथ, डॉ परवेज़ ने न केवल अपने रोगियों को स्थायी जटिलताओं, दर्द और चिंता का कारण बनाया, बल्कि उन्होंने उनके जीवन के सबसे व्यक्तिगत हिस्से पर हमला किया और उनका भविष्य भी लूट लिया."

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button