Home छत्तीसगढ़ कोटलभट्टी गांव में दुर्लभ प्रजाति का वन्य प्राणी नन्हा कबर बिज्जू मिला

कोटलभट्टी गांव में दुर्लभ प्रजाति का वन्य प्राणी नन्हा कबर बिज्जू मिला

65
0

कांकेर
सरोना वन परिक्षेत्र अंतर्गत कोटलभट्टी गांव में एक किसान को रात में सड़क पर दुर्लभ प्रजाति का वन्य प्राणी नन्हा कबर बिज्जू मिला है। सूचना पर मौके पर पहुंची वन विभाग की टीम इस दुर्लभ वन्य प्राणी को अपने कब्जे में ले लिया है।

कबर बिज्जू एक स्तनधारी वन्य प्राणी है, जो भारतीय उपमहाद्वीप, दक्षिण-पश्चिमी एशिया और आफ्रीका में पाया जाता है। यह एक मांसाहारी प्राणी है, जिसके लड़ाके स्वभाव और मोटी चमड़ी के कारण अन्य जानवर दूर ही रहते हैं, यही नहीं अन्य खूंखार प्राणी भी इस पर हमला कम ही करते हैं। कबर बिज्जू तालाबों और नदियों के कगारों में 25-30 फुट लंबी मांद बनाकर रहता है। इसके शरीर का ऊपरी भाग भूरा, बगल और पेट काला तथा माथे पर चौड़ी सफेद धारी होती है, इसके पैर पर पांच मजबूत नख होते हैं, जो मांद खोदने के काम आते हैं। यह अगले पैर से मांद खोदता जाता है, और पिछले पैरों से मिट्टी दूर फेंकता जाता है। यह अपने मजबूत नखों से कब्र खोदकर शव भी खा लेता है। बिज्जू आलसी होता है, और मंद गति से चलता है। यह सर्वभक्षी है, फल मूल से लेकर कीट पतंग तक इसका भोजन है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here