मध्य प्रदेशराज्य

कांग्रेस प्रत्याशी को नहीं मिल रहा शहर में समर्थन, वैश्य वर्ग ने किया किनारा

मुरैना
कॉन्ग्रेस चंबल में सभी सीटें जीतकर सत्ता में वापसी का दावा कर रही है मगर उसकी हालत चंबल मुख्यालय की मुरैना विधानसभा सीट पर ही खराब दिख रही है चंबल कि मुरैना सीट पर सीट पर कांग्रेस ने अपने जिला अध्यक्ष राकेश मावई को  चुनावी समर में उतारा है  जिला अध्यक्ष रहते हुए उनके कार्यकाल में कांग्रेस संगठन का जिले में कोई खास फायदा नहीं हुआ बल्कि गुटबाजी अपने चरम पर पहुंच गई.

जिसका खामजा इस चुनाव में उठाना पड़ सकता है मावई मूलत: बामोर के रहने वाले हैं उनका शहर में कोई प्रभाव नहीं है इसके चलते शहरी मतदाता उनमें कोई रुचि नहीं दिखा रहा इसका परिणाम राकेश द्वारा किए जा रहे जनसंपर्क में साफ दिख रहा है वैश्य वर्ग ने भी उनसे किनारा कर लिया है और सजातीय वोट भी दो भागों में बांट दिख रहा है इसके चलते कांग्रेस प्रत्याशी की राह आसान नहीं दिख रही है.

कांग्रेस ने अपना टिकट के लिए राकेश मोबाइल का नाम फाइनल करके ही कांग्रेसी कार्यकर्ताओं ने किसान कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष के घर के सामने विरोध प्रदर्शन कर मुर्दाबाद के नारे लगाए काफी मशक्कत के बाद कार्यकर्ताओं को इस्तीफा न देने से मना लिया गया मगर बे कार्यकर्ता चुनाव में तटस्थ नजर आ रहे हैं.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button