उत्तर प्रदेशराज्य

 कमलनाथ के बयान पर मचे बवाल के बीच मायावती बोलीं, माफी मांगे कांग्रेस 

 लखनऊ  
मध्य प्रदेश में कांग्रेस के वरिष्ठ नेता कमलनाथ द्वारा दलित महिला पर दिए गए बयान पर मचे बवाल के बसपा प्रमुख मायावती ने कांग्रेस पर हमला बोला है। मायावती ने अति-शर्मनाक व अति-निन्दनीय बताया है। मायावती ने कहा कि कांग्रेस आलाकमान इसके माफी मांगे।

मायावती ने सोमवार सुबह ट्वीट कर लिखा कि मध्यप्रदेश में ग्वालियर की डाबरा रिजर्व विधानसभा सीट पर उपचुनाव लड़ रही दलित महिला के बारे में कांग्रेस के वरिष्ठ नेता व पूर्व सीएम द्वारा की गई घोर महिला-विरोधी अभद्र टिप्पणी अति-शर्मनाक व अति-निन्दनीय। इसका संज्ञान लेकर कांग्रेस आलाकमान को सार्वजनिक तौर पर माफी मांगनी चाहिए।

मायावती ने आगे लिखा कि कांग्रेस पार्टी को इसका सबक सिखाने व आगे महिला अपमान करने से रोकने आदि के लिए भी खासकर दलित समाज के लोगों से अपील है कि वे एम.पी. में विधानसभा की सभी 28 सीटों पर हो रहे उपचुनाव में अपना वोट एकतरफा तौर पर केवल बीएसपी उम्मीदवारों को ही दें तो यह बेहतर होगा। 

2. साथ ही, कांग्रेस पार्टी को इसका सबक सिखाने व आगे महिला अपमान करने से रोकने आदि के लिए भी खासकर दलित समाज के लोगों से अपील है कि वे एम.पी. में विधानसभा की सभी 28 सीटों पर हो रहे उपचुनाव में अपना वोट एकतरफा तौर पर केवल बी.एस.पी. उम्मीदवारों को ही दें तो यह बेहतर होगा। 2/2

आपको बता दें कि राज्य की 28 विधानसभा सीटों के लिए तीन नवंबर को उपचुनाव होना है। इमरती देवी के खिलाफ डबरा विधानसभा सीट से चुनाव लड़ रहे कांग्रेस प्रत्याशी सुरेश राजे के लिए चुनाव प्रचार करते हुए कमलनाथ ने रविवार को कहा, 'डबरा से सुरेश राजे जी हमारे उम्मीदवार हैं। वह सरल स्वभाव के और सीधे-सादे हैं। ये तो उसके जैसे नहीं हैं। क्या है उसका नाम? इसी बीच वहां मौजूद जनता जोर-जोर से 'इमरती देवी, 'इमरती देवी कहने लगी।

इसके बाद कमलनाथ ने हंसते हुए कहा, ''मैं क्या उसका (डबरा की भाजपा प्रत्याशी) नाम लूं। आप तो उसे मुझसे ज्यादा पहचानते हैं। आपको तो मुझे पहले ही सावधान कर देना चाहिए था। ये क्या आइटम है? ये क्या आइटम है? इस पर वहां मौजूद जनता ने खूब तालियां बजाईं और कमलनाथ हंसते हुए मंच से दोहराते रहे, ''ये क्या आइटम है? सुरेश राजे जी का साथ दीजिएगा।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close