Home छत्तीसगढ़ उन वीरों को कोटि-कोटि नमन जिन्होंने राष्ट्र की रक्षा के लिए अपनी...

उन वीरों को कोटि-कोटि नमन जिन्होंने राष्ट्र की रक्षा के लिए अपनी प्राणों की आहुति दी – डॉ. महंत

64
0

रायपुर
छत्तीसगढ़ विधानसभा अध्यक्ष डॉ चरण दास महंत ने कहा है कि उन वीरों को कोटि-कोटि नमन जिन्होंने राष्ट्र की रक्षा के लिए अपनी प्राणों की आहुति दी और देश को आजाद कराया। डॉ. महंत आज जिला मुख्यालय जांजगीर-चांपा में पुलिस प्रशासन द्वारा आयोजित हमर तिरंगा कार्यक्रम में शहीदों के परिवारों को सम्मानित करने के बाद कार्यक्रम को सम्बोधित कर रहे थे। कार्यक्रम की शुरूआत भारत माता व छत्तीसगढ़ महतारी के तैलचित्र पर दीप प्रज्जवलित कर किया गया। मुख्य अतिथि की आसंदी से संबोधित करते हुए विधानसभा अध्यक्ष ने कहा कि आज शहीद परिवार का सम्मान करने का दिन है। उन्होंने कहा कि जो शहीद परिवार आज यहां उपस्थित है उनकी आंखो में गर्व दिखाई दे रहा है।

उन्होंने कार्यक्रम में स्कूली बच्चों को स्वतंत्रता संग्राम के महत्व के बारे में बताया कि आजादी कैसे मिली, कैसे इसको सहेज कर रखना होगा। अमृत महोत्सव के माध्यम से भारत माता की रक्षा करने वाले सैनिकों, देश को आजादी दिलाने वाले महापुरूषों और स्वतंत्रता संग्राम सेनानियो को स्मरण कर हम उन्हे सच्ची श्रद्धांजलि दे रहे हैं। विधानसभा अध्यक्ष ने स्वर्गीय मिनीमाता का स्मरण करते हुए बताया कि उन्होंने अनुसूचित जाति, अनुसूचित जन जाति और गरीबो के हित में उल्लेखीय कार्य किए। इस अवसर पर स्वतंत्रता संग्राम के 75 वर्षगांठ पर सभी शहीदों के परिवारों को साल, श्रीफल और स्मृति चिन्ह प्रदान कर सम्मानित किया गया।  कार्यक्रम की अध्यक्षता छत्तीसगढ़ राज्य गौसेवा आयोग के अध्यक्ष राजेश्री डॉ. रामसुन्दर दास महंत ने की। उन्होंने कहा कि ऐसे परिवारों को सम्मानित कर हम स्वयं गौरन्वित महसूस कर रहे हैं। वीर सैनिकों के बलिदानों से हम स्वतंत्रता की सांस ले रहे है। मैं प्रदेश सरकार को साधुवाद देता हूं। उन्होंने कहा कि शहीदों के योगदान को हमेशा स्मरण रखे।

कलेक्टर तारन प्रकाश सिन्हा ने संबोधित करते हुए कहा कि जांजगीर-चांपा जिला देश के नव-निर्माण में अपनी भूमिका निभा रहा है। यह क्षेत्र शुरू से स्वतंत्रता आंदोलन में योगदान और सर्वाेच्च बलिदान देता रहा है। उन्होंने बैरिस्टर ठाकुर छेदीलाल का स्मरण करते हुए कहा उनके नेतृत्व में क्षेत्र के लोगो ने स्वतंत्रता संग्राम में बढ़चढ़ कर हिस्सा लिया और देश को आजादी दिलाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई। उन्होंने स्वर्गीय बिसाहु दास महंत का स्मरण करते हुए कहा अंग्रेजों के समय में उन्हे स्कॉलरशिप प्रदान की जाती थी। वे राष्ट्रपिता महात्मा गांधी से प्रेरित होकर स्वतंत्रता आंदोलन में शामिल हुए। इससे अंग्रेजों ने उनका स्कॉलरशिप बंद कर दिया फिर भी वे देश सेवा से पीछे नहीं हटे। कार्यक्रम के शुरूआत में एसपी विजय अग्रवाल ने कार्यक्रम के आयोजन के उद्देश्यों पर प्रकाश डाला।

इस अवसर पर जिला पंचायत अध्यक्ष श्रीमती यनीता चन्द्रा, उपाध्यक्ष राघवेन्द्र प्रताप सिंह, नगर पालिका परिषद जांजगीर-नैला अध्यक्ष भगवानदास गढेवाल, सदस्य अन्य भवन सन्निर्माण कर्मकार मण्डल श्रीमती मंजू सिंह, नैला मंडी अध्यक्ष ब्यासनारायण कश्यप, डीएफओ सौरभ सिंह, जिला पंचायत सीईओ डॉ फरिहा आलम सिद्दीकी, सर्वश्री रमेश पैगवार, दिनेश शर्मा, सूरज महंत, रवि पांडेय, श्रीमती शेषराज हरबंश, श्रीमती पुष्पा पाटले, देवेश सिंह एवं पार्षदगण सहित नागरिकगण उपस्थित थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here