अंतरराष्ट्रीय

इमरान खान ने कहा- सियार हैं नवाज शरीफ, पाक फौज में भड़काना चाहते हैं बगावत 

इस्लामाबाद
पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने पीएमएल-एन के सुप्रीमो नवाज़ शरीफ को 'सियार' बताते हुए कहा कि वह फौज पर मुल्क की सियासत में शामिल होने का आरोप लगाकर और सैन्य और आईएसआई के नेतृत्व में बदलाव की मांग कर सेना में ''बगावत'' भड़काने की कोशिश कर रहे हैं।पाकिस्तान के तीन बार के पूर्व प्रधानमंत्री 70 वर्षीय शरीफ फिलहाल लंदन में हैं और उन्होंने पिछले महीने सीधे तौर पर सेना प्रमुख कमर जावेद बाजवा और आईएसआई प्रमुख लेफ्टिनेंट जनरल फैज हमीद पर खान की जीत सुश्निचित करने के लिए 2018 के आम चुनाव में दखलअंदाजी का आरोप लगाया था।

शरीफ को 2017 में भ्रष्टाचार के मामले में अदालत के आदेश के बाद पद से हटना पड़ा था। उन्होंने पाकिस्तान डेमोक्रेटिक मूवमेंट (पीडीएम) के बैनर तले विपक्षी पार्टियों की संयुक्त रैली में 16 अक्टूबर को उक्त आरोप लगाए थे। प्रधानमंत्री खान ने कहा कि शरीफ लंदन में एक ''सियार'' की तरह बैठे हैं और फौज पर निशाना साध रहे हैं। 

खान ने खैबर पख्तूनख्वा के मिंगोरा में एक जनसभा को संबोधित करते हुए कहा कि पूर्व प्रधानमंत्री पाकिस्तानी फौज पर सियासत में शामिल होने और सेना एवं आईएसआई के प्रमुखों को बदलने की मांग करके फौज में 'बगावत' भड़काने की कोशिश कर रहे हैं। ताकतवर फौज ने पाकिस्तान के अस्तित्व के आधे से ज्यादा समय देश पर हुकूमत की है। उसका अब भी सुरक्षा और विदेश नीति के मामलों में काफी दखल है।

बहरहाल, सेना ने मुल्क की राजनीति में दखलअंदाजी करने से इनकार किया है। प्रधानमंत्री खान ने भी इन इल्ज़ामों का खंडन किया है कि फौज ने 2018 के चुनाव में उनकी मदद की थी। डॉन अखबार की खबर के मुताबिक, खान ने कहा कि नवाज़ शरीफ बीमारी का बहाना बना कर देश से भाग गए। वह “पैसे की पूजा“ करते हैं और उन्होंने देश को लूट कर अपनी दौलत जमा की है।

पीएमएल-एन के प्रमुख भ्रष्टाचार के कई आरोपों का सामना कर रहे हैं। वह फिलहाल ज़मानत पर हैं। इस्लामाबाद उच्च न्यायालय ने पिछले साल नवंबर में उन्हें इलाज के लिए लंदन जाने की इजाजत दी थी। लेकिन वह वापस नहीं आए, जबकि उनके वकीलों ने अदालत से कहा कि वह अभी ठीक हो रहे हैं।

खान ने फौज पर राजनीति में दखलअंदाजी करने का आरोप लगाने वाली शरीफ की बेटी मरयम नवाज़ पर भी हमला बोला। प्रधानमंत्री ने कहा कि वह एक महिला होने का फायदा उठा रही हैं, क्योंकि महिलाओं का पाकिस्तान में सम्मान किया जाता है। खान ने कहा, ''नवाज़ शरीफ और उनके बेटों में मुल्क में रहकर पाकिस्तानी फौज पर हमला करने की हिम्मत नहीं हैं। इसलिए वे विदेश भाग गए। मरयम नवाज़ जानती हैं कि हम उन्हें महिला होने की वजह से जेल नहीं भेजेंगे। इसलिए वह फौज के खिलाफ ज़हर उगल रही हैं।''

उन्होंने कहा कि पाकिस्तानी भ्रष्ट सियासतदानों को सेना पर आरोप लगाने की इजाजत कभी नहीं देंगे। पाकिस्तान डेमोक्रेटिक मूवमेंट के तहत साथ आने वाले ''भ्रष्ट नेताओं'' को फटाकरते हुए खान ने कहा कि चोरों और लूटेरों का एक समूह इकट्ठा हुआ है जो देश को लूटने के बाद विशेष रियायतों की मांग रहा है।

Tags

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close