छत्तीसगढ़राज्य

इंदिरा मार्केट में वाहनों को रखने की अनुमति नहीं

दुर्ग
इंदिरा मार्केट क्षेत्र में खरीरदारी के लिए आने वाले लोगों को किसी तरह की परेशानी न हो इसे ध्यान में रखते हुए निगम प्रशासन द्वारा दोपहिया और चारपहिया वाहनों की पार्किंग के लिए अलग से व्यवस्था बनाई गई है। बाजार के भीतर भी वाहनों को रखने की अनुमति नहीं दी जा रही है। निगम और यातायात पुलिस का अमला गुरुवार सुबह से ही बाजार के भीतर व्यवस्था बनाने में जुट गया है।

हर साल दीपावली त्यौहार के मौके पर शहर के इंदिरा मार्केट में खरीददारी को लेकर भीड़ बढ़ जाती है। यह शहर का मुख्य बाजार है। यहां किराना, कपड़ा, ज्वेलरी, जूता-चप्पल, बर्तन, सब्जी मार्केट सहित अन्य सभी बाजार लगता है। हर वर्ष धनतेरस से लेकर लक्ष्मी पूजा तक लगातार तीन दिन भीड़ देखने को मिलती है। निगम प्रशासन द्वारा हर साल वाहनों की पार्किंग को लेकर बाजार से लगे पांच स्थानों में व्यवस्था की जाती है जिसमें शनिचरी बाजार, मारवाड़ी स्कूल, पशु औषधालय, पुलिस लाइन और टीबी अस्पताल का खाली क्षेत्र शामिल हैं। जहां चार पहिया व दो पहिया वाहनों की पार्किंग कराई जाती है। इसके बाद भी कई दोपहिया वाहन चालक बाजार के भीतर प्रवेश कर जाते हैं। वहीं दुकानदारों द्वारा भी माल वाहक वाहनों से दिन भर सामान मंगवाया जाता है। खरीददारी को लेकर उमड?े वाली भीड़ और दोपहिया तथा मालवाहक वाहनों का बाजार के भीतर प्रवेश होने से व्यवस्था बिगड़ जाती है।

निगम के बाजार अधिकारी थान सिंह यादव ने बताया कि इंदिरा मार्केट के दुकानदारों से आग्रह किया गया है कि वे सुबह दस बजे तक अथवा रात में 10 बजे के बाद अपनी दुकानों में सामान स्टोरेट करवाए। यदि दिन में मालवाहक वाहन बाजार के भीतर प्रवेश नहीं करेंगे तो काफी हद तक आवागमन को लेकर व्यवस्था बनी रहेगी। निगम के बाजार विभाग का अमला गुरुवार सुबह से ही बाजार में व्यवस्था बनाने जुट गया है। बाजार में सड़क किनारे पसरा लगाकर दीया-बाती व पूजन सामग्री बेचने वालों को इंदिरा मार्केट के पार्किंग स्थल पर शिफ्ट किया गया।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button