छत्तीसगढ़राज्य

आयुर्वेद दवाओं से बढ़ाए प्रतिरोधक क्षमता, बचे कोरोना महामारी से – डा. अंकिता

रायपुर
अर्क वियत् फाउंडेशन, फुलवारी शिक्षण एवं युवा कल्याण समिति एवं गुरुकुल महिला महाविद्यालय के एनएसएस यूनिट के संयुक्त तत्वाधान में करोना महामारी द्वारा निर्मित कठिन परिस्थितियों को देखते हुए आयुर्वेद सिद्धांतों के अनुसार कोविड-19 के प्रबंधन विषय पर आॅनलाइन वेबीनार का आयोजन किया गया। वेबीनार का मुख्य उद्देश्य करोना वायरस के खिलाफ जागरूकता बढ़ाने और समुदाय की रक्षा करने का एक छोटा सा लक्ष्य है।

आज की विषम परिस्थितियों को अपने अनुरूप बनाने के लिए स्पीकर डॉक्टर अंकिता यादव जो कि एमडी काया चिकित्सा और आयुर्वेदिक कंसलटेंट है इन्होंने आयुर्वेद को समझाते हुए घरेलू उपायों के द्वारा हम आज इस महामारी कोविड-19 से अपने को कैसे सुरक्षित रख सकते हैं उनकी जानकारी दी जो घर में ही उपलब्ध साधनों का उपयोग अपने दैनिक दिनचर्या में शामिल कर सुरक्षित रख सकते हैं  साथ ही उन्होंने आसानी से मिलने वाले आयुर्वेदिक दवाइयों के बारे में भी बताया उनके सेवन से भी हम कैसे अपने प्रतिरोधक क्षमता बढ़ा सकते हैं उन्होंने कहा अगर आपकी प्रतिरोधक क्षमता अच्छी है तो आप कहीं ना कहीं इस महामारी से बचे रहेंगे। उन्होंने यह भी कहा कि आप अपने आसपास के समुदाय अपने घर को भी इसके प्रति जागरूक करिए, आज इस महामारी से बचने में जागरूकता एक अहम भूमिका निभा रही है। गुरुकुल महिला महाविद्यालय की प्राचार्य डॉ संध्या गुप्ता जी ने कहा आयुर्वेद मतलब जीवन से संबंधित ज्ञान इस महामारी में अपने जीवन को सुरक्षित रखना है तो अपने लाइफस्टाइल को हमें चेंज करने की आवश्यकता है। अर्क वियत् फाउंडेशन के संस्थापक विनय सोनवानी जी द्वारा बताया गया कि आज इस महामारी से एक व्यक्ति नहीं पूरा समाज मानसिक रूप से प्रभावित हो रहा है इस महामारी कोविड-19 को को खत्म कर, पहले जैसे जीवन के लिए  हमें अपनी सोच में सकारात्मकता लानी पड़ेगी  की हम इस महामारी से लड़ सकते है और सब कुछ पहले जैसा हो सकता है।

फुलवारी शिक्षण एवं युवा कल्याण समिति के संस्थापक श्री नितेश साहू जी के द्वारा कहा गया की समुदाय को हम अकेले नहीं बचा सकता हम सबको मिलकर बचाना है हम जितना ज्यादा जागरूकता लाएंगे उतना ही इनसे बचे रहेंगे। आज इन तीनों संस्थाओं द्वारा मिलकर लोगों को जागरूक करने का संकल्प लिया गया। छात्राओं द्वारा प्रश्न किया गया की आयुर्वेद का इम्यूनिटी में क्या रोल है, कोविड-19 की मेंटल हेल्थ को कैसे डिस्टर्ब कर रही है, कोविड-19 और आयुर्वेद में क्या रिलेशन है आदि, इस वेबीनार में अर्क वियत् फाउंडेशन की टीम, फुलवारी शिक्षण एवं युवा कल्याण समिति की टीम, गुरुकुल महिला महाविद्यालय की छात्राएं, गुरु घासीदास विश्वविद्यालय के फोरेंसिक साइंस विभागाध्यक्ष डॉ. सुधीर यादव, फोरेंसिक इन्वेस्टिगेशन एजेंसी के डायरेक्टर श्री दीपेंद्र बारमाते,  साथ ही अन्य कॉलेज के सहायक प्राध्यापक, डॉक्टर, फार्मासिस्ट, छात्राएं वेबिनार में मौजूद रहे , साथ ही अलग-अलग फील्ड से लोगों ने जुड़कर इस वेबीनार को सफल बनाया। कार्यक्रम में मुख रूप से अमित बंजारे, आकांक्षा यादव, वैभव मानिकपुरी, मृणाली, पंकज कुश्मी, आशुतोष शुक्ला का योगदान रहा। यह कार्यक्रम श्रीमती रात्रि लहरी प्रोग्राम आॅफिसर के मार्गदर्शन में संपन्न किया गया।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button