राष्ट्रीय

आम बातों पर पिटाई करता था पिता, बेटे ने मां की मदद से की हत्या, टीवी सीरियल देख छिपाए सबूत

मथुरा
मथुरा के थाना वृंदावन क्षेत्र में वैष्णो देवी मंदिर के पीछे करीब 5 माह पूर्व एक शख्स की अधजली लाश मिली थी। पुलिस ने इस घटना का खुलासा करते हुए हत्या के आरोपी मृतक के नाबालिग बेटे और मृतक की पत्नी को गिरफ्तार कर लिया है। आरोप है कि पिता छोटी-छोटी बातों पर नाराज होकर बेटे और बेटी की पिटाई कर देता था। इस बात से नाराज बेटे ने अपने पिता को मौत के घाट उतार दिया और टीवी सीरियल क्राइम पेट्रोल को देख अपराध से जुड़े सभी साक्ष्य भी मिटा दिए। यही नहीं, इस काम में आरोपी की मां ने भी उसका पूरा सहयोग किया था। बता दें कि करीब 5 माह पूर्व 3 मई 2020 की शाम को वृंदावन में वैष्णो देवी मंदिर के पीछे एक खाली प्लाट में एक शख्स की अधजली लाश मिली थी। पुलिस ने मामले में छानबीन की तो मृतक की शिनाख्त मनोज मिश्रा उर्फ आनंदेश्वर चैतन्य दास निवासीगण विनोद बिहारी कुंज कालिंदी बिहार कालौनी नियर पुराना कालीदह वृंदावन थाना वृंदावन के रूप में हुई। बुधवार को घटना का खुलासा करते हुए एसपी सिटी उदय शंकर सिंह ने बताया कि मृतक मनोज मिश्रा का गुस्सैल स्वभाव ही उनकी मौत की वजह बन गया। उन्होंने बताया कि मनोज जरा-जरा सी बात पर गुस्सा होकर अपने बेटे और बेटी की बुरी तरह पिटाई कर दिया करते थे।

'तो बेटे ने गला दबाकर की हत्या'
अधिकारी ने बताया कि घटना से पूर्व भी घर में जब मनोज सो रहे थे तो उनका बेटा बर्तन लेकर घर में मंदिर की तरफ जा रहा था, इसी दौरान बर्तनों की कुछ आवाज हुई और मनोज की नींद खुल गई। नींद से उठे मनोज ने उठकर गुस्से में अपने 17 वर्षीय बेटे की पिटाई शुरू कर दी, जिस पर बेटे ने पास ही में पड़ी लोहे की रॉड से अपने पिता के सिर पर हमला कर दिया। इस दौरान मनोज जमीन पर गिर पड़े और बाद में बेटे ने उनका गला भी दबा दिया।

'यूट्यूब पर देखता सीरियल, फिर…'
एसपी सिटी ने बताया कि पुलिस जांच में यह भी पता चला है कि आरोपी अपने मोबाइल पर यूट्यूब पर क्राइम पेट्रोल सीरियल देखता था और उसी को देख उसने बड़ी सफाई से पूरे घटनाक्रम को अंजाम दिया। आरोपी ने मृत पिता की बॉडी को एक बोरे में भरकर मां की मदद से स्कूटी पर लादा और वैष्णो देवी मंदिर के पीछे एक खाली प्लॉट में एसिड व पेट्रोल डालकर जला दिया। इस घटनाक्रम को आत्महत्या दर्शाने के लिए मृतक का चश्मा, चप्पल, उसकी माला को जलते हुए शव के साथ डाल दिया। लोहे की रॉड को छटीकरा रुक्मणी बिहार मार्ग पर खाली प्लॉट में फेंक दिया। वहीं पर एसिड की खाली बोतल, शव को ले जाने में प्रयुक्त बोरा व गला दबाने में इस्तेमाल धोती को जला दिया। यह सब सामान घर का था इसलिए सामान को शव जलाने के स्थान से अलग स्थान पर जलाया। रॉड को इसलिए फेंक दिया ताकि फिंगर प्रिंट ना आ सकें।

…तो हो गया वारदात का खुलासा
एसपी सिटी ने कहा कि घटना के बाद पहले तो मृतक का बेटा और उसकी मां एक ही कहानी बता रहे थे लेकिन शक होने पर जब दोनों से अलग-अलग सख्ती से पूछताछ की गई तो सच्चाई बाहर आ गई। उन्होंने बताया कि आरोपी बेटे और घटना में उसका सहयोग करने वाली उसकी मां संगीता मिश्रा को अरेस्ट कर लिया गया है। इनके कब्जे से हत्या में प्रयुक्त लोहे की रॉड, स्कूटी, दो मोबाइल फोन, दो एसिड की बोतलें बरामद की गई हैं।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button