राष्ट्रीय

 आज गुजरात में PM मोदी 3 बड़ी परियोजनाओं की सौगात का करेंगे उद्घाटन

 नई दिल्ली  
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज शनिवार को अपने गृह राज्य गुजरात में 3 प्रमुख परियोजनाओं का वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से उद्घाटन करेंगे, जिसमें गिरनार में रोप-वे परियोजना का भी उद्घाटन करेंगे. इस रोप-वे के शुरू होने से गिरनार पर्वत के ऊपर बने मंदिर के दर्शन के लिए श्रद्धालुओं को 10 हजार सीढ़ियां चढ़ने से राहत मिलेगी. पीएम मोदी बहुचर्चित और देश के सबसे बड़े गिरनार रोप-वे का उद्घाटन भी करेंगे. गिरनार की चोटी पर स्थित भगवान दत्तात्रेय के दर्शन के लिए 10 हजार से अधिक सीढ़ियां चढ़कर जाना पड़ता था. इस रोप-वे के जरिए तीर्थयात्रियों और बुजुर्गों को रोप-वे के जरिए सीधे चोटी तक पहुंचने में आसानी रहेगी.

इस रोप-वे के शुरू होने के बाद महज 7 मिनट में इस सफर को तय किया जा सकेगा. साथ ही इस रोप-वे में 24 ट्रॉली लगाई जाएंगी. एक ट्रॉली में आठ लोग बैठेंगे. इससे एक फेरे में 192 यात्री जा पाएंगे. इसमें 6 नंबर का टॉवर सबसे ऊंचा करीब 67 मीटर है जो कि गिरनार की एक हजार सीढ़ी के पास स्थित है. रोप-वे की शुरुआत होने पर जूनागढ़ का गिरनार रोप-वे पर्यटन के क्षेत्र में आकर्षण का केंद्र बन जाएगा.
 
इससे अलावा प्रधानमंत्री मोदी गुजरात के किसानों के लिए 'किसान सूर्योदय योजना' और अहमदाबाद के सिविल अस्पताल में यूएन मेहता इंस्टीट्यूट ऑफ कार्डियोलॉजी एंड रिसर्च सेंटर के साथ पीडियाट्रिक हार्ट हॉस्पिटल और टेली-कार्डियोलॉजी के लिए एक मोबाइल एप्लीकेशन का उद्घाटन करेंगे. राज्य में सिंचाई के लिए दिन में बिजली आपूर्ति के वास्ते, मुख्यमंत्री विजय रुपाणी के नेतृत्व वाली गुजरात सरकार ने हाल ही में किसान सूर्योदय योजना की घोषणा की थी. इस योजना के जरिए किसान सुबह 5 बजे से रात 9 बजे तक बिजली पा सकेंगे.

राज्य सरकार ने 'किसान सूर्योदय योजना' के जरिए 2023 तक पारेषण अवसंरचना स्थापित करने के लिए 3500 करोड़ रुपये का बजट आवंटित किया है. 2020-21 के लिए दाहोद, पाटन, महिसागर, पंचमहल, खेड़ा, तापी, वलसाड, छोटा उदयपुर, आनंद और गिर-सोमनाथ को योजना के तहत शामिल किया गया है. शेष जिलों को 2023 तक चरणबद्ध तरीके से कवर किया जाएगा.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 'किसान सूर्योदय योजना' के अलावा यूएन मेहता इंस्टीट्यूट ऑफ कार्डियोलॉजी एंड रिसर्च सेंटर के साथ जुड़े पीडियाट्रिक हार्ट हॉस्पिटल का भी उद्घाटन करेंगे. साथ ही अहमदाबाद के सिविल अस्पताल में टेली-कार्डियोलॉजी के लिए एक मोबाइल एप्लीकेशन की शुरुआत करेंगे. यूएन मेहता इंस्टीट्यूट ऑफ कार्डियोलॉजी का 470 करोड़ रुपये की लागत से विस्तार किया जा रहा है. जिससे यहां बिस्तरों की संख्या 450 से बढ़कर 1251 हो जाएगी. यूएन मेहता इंस्टीट्यूट ऑफ कार्डियोलॉजी देश का सबसे बड़ा एकल सुपर स्पेशलिटी कार्डियक शिक्षण संस्थान भी बन जाएगा.

Tags

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close