खेल

आईपीएल-13 फाइनल का महामुकाबला आज दिल्ली मुंबई के बीच

दुबई 
आईपीएल के 13वें सीजन के फाइनल में मंगलवार को दुबई में मुंबई इंडियंस (MI) और दिल्ली कैपिटल्स (DC) की टीमें आमने-सामने होंगी. चार खिताब चीत चुकी सितारों से सजी मुंबई के सामने पहली बार फाइनल में जगह बनाने वाली दिल्ली की चुनौती होगी, जिसके पास ‘मैच विनर्स’ की कमी नहीं है. यह खिताबी मुकाबला भारतीय समयानुसार शाम 7.30 बजे से खेला जाएगा. रोमांच से भरपूर इस ‘खास’ आईपीएल का एक आखिरी मुकाबला शेष है. खास इसलिए कि तमाम चुनौतियों और बाधाओं के बावजूद इसके सफल आयोजन ने दर्शकों को कोरोना वायरस महामारी से पैदा हुई नकारात्मकता से निजात पाने में मदद की है.

IPL: MI vs DC क्या है रिकॉर्ड
आईपीएल में मुंबई इंडियंस और दिल्ली कैपिटल्स (2008-2020) के बीच अब तक 27 मुकाबले हो चुके हैं. मुंबई ने 15 में बाजी मारी है, जबकि दिल्ली को 12 में जीत मिली. मौजूदा आईपीएल में दोनों टीमों के बीच तीन मुकाबले हो चुके हैं. तीनों में मुंबई ने जीत हासिल की और अब फाइनल में आमने-सामने हैं. आईपीएल के सबसे सफल कप्तान रोहित शर्मा की नजरें 5वें खिताब पर हैं. वहीं, दिल्ली पिछले 12 सीजन में फिसड्डी साबित होने के बाद पहली बार इस मुकाम तक पहुंची है. ऐसा बहुत कम ही होता है कि सबसे प्रबल दावेदार दो टीमें ही खिताब के लिए आपस में टकराएं. इस बार हालांकि शीर्ष दो टीमें ही आमने-सामने हैं. मुंबई ने 15 में से 10 मैच जीते, जबकि दिल्ली ने 16 में से 9 मैचों में जीत दर्ज की.

मुंबई के खिलाड़ियों ने टूर्नामेंट में शुरू ही से दबदबा बनाए रखा. मुंबई के बल्लेबाजों ने 130 छक्के जड़े हैं, जबकि दिल्ली ने 84 छक्के जमाए हैं. ऑस्ट्रेलिया दौरे के लिए भारतीय टीम में नहीं चुने जाने के गम को भुलाकर सूर्यकुमार यादव ने जिस तरह बल्लेबाजी की, वह मिसाल बन चुके हैं. अब तक वह 60 चौके और 10 छक्के लगा चुके हैं. ईशान किशन ने 29 छक्के लगाए हैं.

दिल्ली के गेंदबाज कैगिसो रबाडा (29 विकेट) और एनरिक नोर्तजे (20 विकेट) अगर इन दोनों से पार पा भी लेते हैं, तो पंड्या बंधु की चुनौती भी आसान नहीं है. दोनों जबर्दस्त फॉर्म में भी हैं. दिल्ली के लिए शिखर धवन 600 से अधिक रन बना चुके हैं. अब उन्हें जसप्रीत बुमराह और ट्रेंट बोल्ट के सटीक यॉर्कर और इनस्विंग का सामना करने के लिए कुछ खास करना होगा. इस सत्र में तीन मैचों में मुंबई ने दिल्ली पर एकतरफा जीत दर्ज की है, लेकिन अगर सबसे अहम मुकाबले में दिल्ली बाजी मार लेती है, तो ये तीनों हार बेमानी हो जाएंगी.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button