खेल

आईएसएल 7 : झिंगन पहली बार कोलकाता डर्बी का अनुभव लेने के लिए तैयार 

नई दिल्ली
मौजूदा समय में भारतीय फुटबॉल में सबसे बड़े नामों में से एक संदेश झिंगन का यह चौंकाने वाला कदम है। झिंगन ने कहा, "मुझे कभी भी कोलकाता के स्टेडियम में लाइव देखने का मौका नहीं मिला।"  झिंगन के पास शुक्रवार को मैदान में उतरने का मौका होगा। हीरो इंडियन सुपर लीग (आईएसएल) के अब तक के पहले कोलकाता डर्बी में 27 नवंबर को वास्को डि गामा के तिलक मैदान स्टेडियम में मौजूदा चैम्पियन एटीक मोहन बागान (एटीकेएमबी) का सामना ईस्ट बंगाल से होगा और झिंगन इस मैच में आकर्षण का केंद्र होंगे। 

केरला ब्लास्टर्स के साथ छह सीजन बिताने के बाद झिंगन ने इस समर की शुरुआत में एक बड़ा फैसला लिया और उन्होंने कोच्चि की फ्रेंचाइजी ब्लास्टर्स से अलग होने का फैसला किया। उनकी नई मंजिल एटीकेएमबी थी, जिन्होंने उनके साथ पांच साल का लंबा करार किया है। कोच एंटोनियो लोपेज हबास को यह जानने की जल्दी थी कि उनके पास 27 वर्षीय डिफेंडर के लिए साथ क्या है। 

एटीकेएमबी में झिंगन उन पांच कप्तानों में से एक थे, जिन्हें प्रमोट किया गया। झिंगन को अब एटीकेएमबी के दूसरे मैच में ही खेलने का अनुभव मिलेगा, लेकिन यह डिफेंडर इस मैच को अन्य मैच की तरह से ही ले रहे हैं। 

झिंगन ने कहा, "विश्व में यह सबसे बड़ी डर्बी में से एक है। एक फुटबालर होने के नाते आप इस तरह के बड़े मंचों का हिस्सा बनना चाहते हैं, इसलिए मैं इसे लेकर बेहद उत्साहित हूं। मैं खेल की अहमियत को ज्यादा गहराई से नहीं देखता, चाहे वह कोलकाता डर्बी हो या कोई अन्य मैच। मेरे लिए यह सब एक जैसा ही है। सभी मैच महत्वपूर्ण हैं, इसलिए मैं भावनाओं को अपने ऊपर हावी नहीं होने देता। कोच और स्टाफ भी इसे फुटबॉल के खेल के रूप में ही देख रहे हैं।" ऐसा नहीं है कि झिंगन इस बात को नहीं समझते कि दोनों क्लब के प्रशंसकों के लिए इस मैच का क्या मतलब है। लेकिन वह सिर्फ यह सुनिश्चित करने पर ध्यान दे रहे हैं कि उनकी टीम इस मैच से तीन अंक लेकर लौटे। 

उन्होंने कहा, "डर्बी का एक समृद्ध इतिहास है और भारतीय फुटबॉल में इसकी जड़ें गहरी हैं। उम्मीद है कि अब मुझे इसका हिस्सा बनने का मौका मिलेगा। भारतीय फुटबाल और फैन्स के लिए कोलकाता डर्बी अच्छा है, लेकिन हम वर्तमान में जीते हैं और मुझे अपना काम करना है। अन्य टीमों की तरह ही तीन अंक लेना और क्लीन शीट हासिल करना।" 

 झिंगन बड़े मैचों से अनजान नहीं हैं। वह दो आईएसएल फाइनल खेलने के अलावा भारतीय राष्ट्रीय फुटबाल टीम के लिए भी कई महत्वपूर्ण मैच खेल चुके हैं। उन्हें दबाव से निपटना अच्छी तरह से आता है। भारतीय फुटबालर ने कहा, "चैम्पियन टीम का हिस्सा होने से कुछ अतिरिक्त दबाव होता है। लेकिन मैं इस जिम्मेदारी का आनंद उठाता हूं क्योंकि इससे वो दिखाने का मौका मिलता है, जोकि आपके पास है। इसलिए लोग आपसे उम्मीद रखते हैं ताकि आप उन उम्मीदों पर खड़ा उतर सकें।" 

 मौजूदा चैम्पियन एटीकेएमबी ने शुक्रवार को केरला ब्लास्टर्स को 1-0 से हराकर सातवें सीजन में अपने खिताब बचाओ अभियान की विजयी शुरुआत की है। लिवरपूल एफसी के दिग्गज रोबी फॉलर के नेतृत्व में ईस्ट बंगाल की टीम भी मैरिनर्स के खिलाफ अपनी विजयी अभियान की शुरुआत करने उतरेंगे। रेड एंड गोल्ड्स ने इस सीजन के लिए अनुभवी विदेशी खिलाड़ियों के साथ—साथ अनुभवी भारतीय खिलाड़ियों के साथ भी करार किया है और अब वह लीग में खुद को एक पॉवरहाउस के रूप में स्थापित करने में समय बर्बाद नहीं करना चाहते हैं। 

एटीकेएमबी के पास हालांकि एक मजबूत और गहरी टीम है तथा उन्हें टूर्नामेंट का दावेदार माना जा रहा है। हालांकि झिंगन का मानना है कि फॉलर की टीम के बारे में भविष्यवाणी करना मुश्किल होगा क्योंकि उन्होंने अब तक एक भी मुकाबला नहीं खेला है। 

 झिंगन ने कहा, "हम एक सेट टीम हैं और इससे उन्हें हमारी ताकत तथा कमजोरियों का पता चल जाता है। उनकी एक नई टीम है, जिसकी भविष्यवाणी नहीं की जा सकती। हम नहीं जानते कि वे हमें क्या प्रदान करने जा रहे हैं। हमारे ऊपर जिम्मेदारियां हैं, लेकिन हमें अपने सिस्टम और कोच पर विश्वास है। मुझे यकीन है कि उनके पास इस मैच के लिए एक सही योजना होगी।" 

 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close