छत्तीसगढ़राज्य

अगले 24 घंटों में किसानों का शत-प्रतिशत पंजीय पूरा करने कलेक्टर के निर्देश

रायगढ़
धान खरीदी के लिये जिले में किसानों के पंजीयन की समीक्षा करते हुए कलेक्टर भीम सिंह ने कहा कि किसानों का पंजीयन 31 अक्टूबर तक पूर्ण किया जाना था जिसे राज्य शासन ने 10 दिन और बढ़ाकर 10 नवम्बर अंतिम तिथि निर्धारित की अगले 24 घंटों में जिले के सभी स्थानों पर पंजीयन का कार्य पूरा किया जाये। राज्य शासन द्वारा अब तिथि नहीं बढ़ायी जायेगी। ऐसी स्थिति में केवल 24 घंटे (एक दिन) का समय शेष है।

पूर्व में जिले के सभी एसडीएम और तहसीलदार को निर्देश दिये गये थे कि 5 नवम्बर तक पंजीयन पूरा कर रिपोर्ट देंगे। इस बीच कोई तकनीकी समस्या आती है तो तुरन्त अवगत करायें, जिन तहसीलों में आरआई, पटवारी या कम्प्यूटर आॅपरेटर की मांग की गई वहां स्टाफ भी उपलब्ध कराया गया है। ऐसी स्थिति में जहां पंजीयन पूरा नहीं होगा इसकी जांच कर जिम्मेदारी तय की जायेगी और संबंधित अधिकारी-कर्मचारी के विरूद्ध आवश्यक कार्यवाही की जावेगी। समीक्षा बैठक में अलग-अलग एसडीएम और तहसीलदारों ने बताया कि जिले के अधिकांश क्षेत्रों में पंजीयन का कार्य शत प्रतिशत पूरा कर लिया गया है।

खरसिया में 13 संशोधन पकरणों को छोड़कर 99.9 पतिशत पंजीयन का कार्य पूरा कर लिया गया है। इन्हें भी आज रात तक पूरा कर लिया जायेगा। सारंगढ़ एसडीएम ने जानकारी दी कि उनके यहां सारंगढ़ और बरमकेला में कुछ समस्यायें आ रही है। इन्हें दूर कर 10 नवम्बर तक पंजीयन पूरा करने का प्रयास किया जा रहा है। कलेक्टर सिंह ने सभी एसडीएम को निर्देशित किया कि जिन स्थानों पर किसानों का शत-प्रतिशत पंजीयन पूरा कर लिया गया है वहां सभी पटवारी और आर.आई.गिरदावरी की संख्यात्मक जानकारी से पंजीयन का पुन: एक बार मिलान कर लें। उन्होंने धान खरीदी हेतु बारदाना व्यवस्था की भी समीक्षा की। उन्होंने सभी एसडीएम को धान खरीदी हेतु बारदाने की उपलब्धता सुनिश्चित करने के निर्देश दिये और संंबंधित क्षेत्रों में पदस्थ खाद्य निरीक्षक, पीडीएस दुकानों और राइस मिलर्स से पिछले अपै्रल से अब तक का बारदाना जांच कर प्राप्त करें और की गई कार्यवाही से एसडीएम को अवगत करावें। धान खरीदी के लिये किसी भी स्थान पर बारदानें की कमी नहीं हो इसका ध्यान रखें।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button