मध्य प्रदेशराज्य

अंबाह, मेहगांव और दिमनी में सर्विस वोटर्स की संख्या ज्यादा, तय करेंगे उम्मीदवारों की हार-जीत

भोपाल
प्रदेश के 28 विधानसभा क्षेत्रों में हो रहे उपचुनावो में अम्बाह, मेहगांव, दिमनी, गोहद, ग्वालियर और ग्वालियर पूर्व में सर्विस वोटर (सेवा मतदाता) यहां खड़े उम्मीदवारों की जीत-हार का फैसला करेंगे। इन विधानसभा क्षेत्रोंं में सर्विस वोटरो की संख्या एक हजार से लेकर साढ़े चार हजार तक है।

उपचुनाव में इस बार अम्बाह विधानसभा सीट पर सर्वाधिक 4 हजार 574 सर्विस वोटर मतदान कर रहे हैं। यहां भाजपा की सीट पर कमलेश जाटव और कांग्रेस की सीट पर सत्यप्रकाश सिकरवार चुनाव मैदान में है।  बसपा ने यहां भानुप्रताप सिंह सखवार को मैदान में उतारा है। वर्ष 2018 में अम्बाह में कांग्रेस की सीट से चुनाव लड़े कमलेश जाटव को 37 हजार 343 वोट मिले थे जबकि उनके निकटतम प्रतिद्वंदी भाजपा  की सीट से चुनाव लड़े गब्बर सखवार को 29 हजार 715 वोट मिले थे। कमलेश जाटव को सर्विस वोटर के 508 मत मिले थे जबकि गब्बर सखवार को सर्विस वोटर के 448 मत मिले थे। कमलेश जाटव ने 7 हजार 628 वोटो से चुनाव जीता था। इस हिसाब से यहां के सर्विस वोटर इस बार भी उम्मीदवारों की  जीत हार का फैसला करेंगे।

सर्विस वोटर के मामले में मेहगांव दूसरे स्थान पर है यहां इस बार 2 हजार 965 सेवा मतदाता मतदान करेंगे। मेहगांव में भाजपा से ओपीएस भदौरिया और कांग्रेस के हेमंत कटारे के बीच मुकाबला है। यहां बसपा ने योगेश मेघसिंह को चुनाव मैदान में उतारा है। मेहगांव में सर्वाधिक 38 उम्मीदवार चुपाव लड़ रहे है। इसके चलते सर्विस वोटरों के मत किसी भी उम्मीदवार की जीत का खेल बिगाड़ने में महती भूमिका निभाएंगे। दिमनी विधानसभा क्षेत्र में  भाजपा की सीट से मंत्री गिर्राज दंडोतिया का मुकाबला कांग्रेस के रविन्द्र सिंह तोमर से है। यहां भी गिर्राज के हमनाम उम्मीदवार चुनाव मैदान में है। ग्वालियर पूर्व में इस बार 1275 और ग्वालियर में 1238 सेवा मतदाता मतदान करेंगे। ग्वालियर पूर्व में  इस बार भाजपा के सतीश सिकरवार और कांग्रेस के मुन्नालाल गोयल के बीच मुकाबला है। कुल बारह उम्मीदवार यहां चुनाव मैदान में उतरे है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button